New Parliament Building : उद्घाटन समारोह में शामिल धर्मगुरुओं का बड़ा संदेश, कहा- धर्म गुरु से पहले हम भारतीय

नई दिल्ली देश को आज अपना नया संसद भवन मिल गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता हस्तांतरण के प्रतीक, ‘सेंगोल’ को नए संसद भवन में स्थापित किया। ‘सेंगोल’ को लोकसभा स्पीकर के आसन के पास लगाया गया है। नए संसद भवन के उद्घाटन के बाद पीएम ने निर्माण में काम करने वाले श्रमिकों को सम्मानित किया। पीएम मोदी ने इस अवसर पर 75 रुपये का एक खास सिक्का भी जारी किया। नई दिल्ली में बना नया संसद भवन पुरानी इमारत के ठीक बगल में बना है। वहीं, इस मौके पर तमिलनाडु के अलग-अलग मठों से आए अधीनम ने हवन-पूजन किया। उद्घाटन के बाद नई संसद में सर्वधर्म सभा आयोजित हुई। इस सर्वधर्म सभा में बौद्ध, जैन, पारसी, सिख समेत कई धर्मों के धर्मगुरु ने अपनी-अपनी प्रार्थनाएं कीं।

उद्घाटन के बाद धर्मगुरुओं ने भारतीयों को एकजुट रहने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि आज का दिन भारतीयों के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। नए संसद भवन के उद्घाटन के अवसर पर बहु-विश्वास प्रार्थना में भाग लेने वाले यहूदी रब्बी एजेकील इसहाक मालेकर ने कहा कि आज हमने विविधता में एकता का संदेश दिया है। हम धर्म गुरु है, लेकिन हम संदेश देना चाहते हैं कि हम पहले भारतीय नागरिक के तौर पर उपस्थित रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत यहूदियों के लिए एक ऐसा देश है, जहां वे दो वर्षों से रहे हैं। उन्हें कभी छल कपट का सामना नहीं, करना पड़ा। इसलिए मैं कहता हूं कि भारत हमारी मात्र भूमि है। इसलिए इसका सम्मान करना चाहिए। धर्म और राजनीति को अलग रखना चाहिए। हम राजनीति पर कुछ बोले वो हमारे लिए सही नहीं है। 

वहीं, सिख गुरु बलबीर सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मैं राजनीति से खुद को दूर रखता हूं। इसलिए मैं केवल इतना कह सकता हूं कि देश के विकास के लिए सभी को एकजुट होकर काम करना चाहिए। 

उद्घाटन समारोह के दौरान आयोजित बहु-विश्वास प्रार्थना सभा में जैन आचार्य डॉ. लोकेश मुनि भी शामिल हुए थे। उन्होंने कहा कि’आज नई संसद में जब ‘धर्म दंड’ स्थापित किया गया तो हमने एक ऐतिहासिक क्षण देखा। उन्होंने कहा कि मैंने संपूर्ण जैन धर्म की तरफ से मोदी का आभार व्यक्त किया क्योंकि पीएम ने धर्म दंड को बड़े आदर के साथ स्थापित किया। इस मौके पर सभी धर्म की प्राथनाएं हुईं। 

नए संसद भवन के उद्घाटन के अवसर पर बहु-विश्वास प्रार्थना में भाग लेने वालीं जसबीर कौर ने कहा कि नया संसद भवन परिवर्तन का प्रतिनिधित्व करता है और यह हमारे लिए एक ऐतिहासिक क्षण है। हर भारतीय को एकजुट रहना चाहिए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *