आप ने जताई केजरीवाल की गिरफ्तारी की आशंका

नई दिल्ली। दिल्ली में शराब घोटाले पर घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है. सीबीआई ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आज पूछताछ के लिए बुलाया है. उनसे सीबीआई हेडक्वार्टर में पूछताछ जारी है. वहीं आम आदमी पार्टी के नेता और कार्यकर्ता सड़कों पर हैं. पुलिस ने कई नेताओं को हिरासत में भी लिया है।

इस सबके बीच आम आदमी पार्टी ने अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी की आशंका जताई है. इसको ध्यान में रखते हुए आम आदमी पार्टी के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने पार्टी दफ्तर में इमरजेंसी बैठक बुलाई है. इसमें पार्टी के तमाम पदाधिकारी, जिला अध्यक्ष, राष्ट्रीय सचिव और नेता शामिल हुए हैं. साथ में दिल्ली की मेयर और डिप्टी मेयर भी बैठक में शामिल हुई हैं।

दरअसल, दिल्ली में कथित शराब घोटाले की जांच अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तक पहुंच गई है. इस मामले में सीबीआई आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल से पूछताछ कर रही है. सीबीआई ने शनिवार को केजरीवाल को समन जारी कर 16 अप्रैल को पूछताछ के लिए पेश होने को कहा था. आप आरोप लगा रही है कि केंद्र सरकार राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिलने के बाद दबाव बनाना चाहती है।

दिल्ली को इन्होंने (BJP) नॉर्थ कोरिया बना दिया है: जैस्मिन शाह

AAP प्रवक्ता जैस्मिन शाह ने बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा, “प्रदर्शन का अधिकार सभी को होना चाहिए. पार्षदों, विधायकों के घरों पर पुलिस तैनात कर दी गई. दिल्ली और पंजाब के मंत्री, हमारे सारे सीनियर नेता जो पुलिस परमिशन के साथ सीबीआई दफ़्तर के पास बैठे थे, उन्हें अचानक उठा लिया गया. आज यह कहना पड़ रहा है कि प्रोटेस्ट करने का अधिकार मर गया है. यह इमरजेंसी नहीं है तो क्या है. दिल्ली को इन्होंने (बीजेपी) नॉर्थ कोरिया बना दिया है।

BJP धरना करती है तो न कोई कार्रवाई होती है

AAP के नेशनल सेक्रेटरी पंकज गुप्ता ने कहा कि यह जानते हुए कि कई महीनों से मनीष सिसोदिया और कई लोगों की छानबीन हुई और कोई सबूत नहीं मिला. अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए बुलाया गया. AAP कार्यकर्ता और नेता जगह जगह शांति पूर्ण प्रदर्शन करना चाहते थे, लेकिन उन्हें हिरासत में लिया गया. सीबीआई दफ़्तर के पास हमारे सांसदों मंत्रियों को नहीं बैठने दिया गया. उन्हें हिरासत में लिया गया. भाजपा धरना करती है तो न कोई कार्रवाई होती है, न ही उन्हें हिरासत में लिया जाता है. इन्हीं सब पर चर्चा के लिए AAP के दिल्ली संयोजक गोपाल राय पार्टी और संगठन के नेताओं के साथ बैठक करके चर्चा करेंगे. अरविंद केजरीवाल से पूछताछ के बाद भी उन्हें कुछ हासिल नहीं होगा, हम अपना कार्य उसी तरह से जनता के लिए करते रहेंगे।

मनीष सिसोदिया जेल में हैं बंद

बता दें कि इस मामले में दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी जेल में बंद हैं. सिसोदिया को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 26 फरवरी को गिरफ्तार किया था. मनीष सिसोदिया से जेल में प्रवर्तन निदेशालय (ई़डी) ने भी पूछताछ की थी. ईडी ने पूछताछ के बाद जेल से ही मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार कर लिया था. ईडी ने मनीष सिसोदिया को रिमांड पर लेकर भी पूछताछ की थी. मनीष सिसोदिया ने इसी मामले में राउज एवेन्यू कोर्ट में याचिका दायर कर जमानत मांगी थी. लेकिन कोर्ट ने इसे मंजूर नहीं किया।

क्या है शराब घोटाला मामला?

दिल्ली सरकार ने 17 नवंबर 2021 को नई एक्साइज पॉलिसी लागू की थी. दिल्ली सरकार ने इस नीति के लागू होने के बाद राजस्व में इजाफे के साथ ही माफिया राज खत्म करने का तर्क दिया था लेकिन हुआ ठीक उल्टा. दिल्ली सरकार को राजस्व का नुकसान हुआ. दिल्ली के तत्कालीन मुख्य सचिव ने जुलाई 2022 में दिल्ली के तत्कालीन मुख्य सचिव ने एलजी वीके सक्सेना को रिपोर्ट सौंपी थी, जिसमें मनीष सिसोदिया पर शराब कारोबारियों को अनुचित लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया गया था।

एलजी ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी. एलजी की सिफारिश के बाद सीबीआई ने 17 अगस्त 2022 को केस दर्ज कर जांच शुरू की थी. इस केस में मनीष सिसोदिया समेत 15 लोगों को आरोपी बनाया गया था. 22 अगस्त को ईडी ने आबकारी नीति में मनी लॉन्ड्रिंग का केस भी दर्ज किया था. करीब छह महीने की जांच के बाद सीबीआई ने मनीष सिसोदिया को फरवरी महीने में गिरफ्तार कर लिया था. मनीष सिसोदिया तभी से सलाखों के पीछे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *